Thursday, July 29, 2021
Home राज्य दिल्ली लोकतंत्र में असंतोष की आवाज को दबाया नहीं जा सकता : कोर्ट

लोकतंत्र में असंतोष की आवाज को दबाया नहीं जा सकता : कोर्ट

राजस्थान हाइकोर्ट के फैसले से पायलट खेमे को कुछ राहत

दिल्ली ब्यूरो
दिल्ली । राजस्थान हाइकोर्ट के फैसले से पायलट खेमे को कुछ राहत मिल गयी पर इसी के साथ अब पूरी जिम्मेवारी सुप्रीम कोर्ट के मत्थे आ गयी है । हांलाकि राजस्थान हाई कोर्ट ने यह कहकर गहलोत खेमे को अवश्य झटका दे दिया है कि लोकतंत्र में असंतोष की आवाज को दबाया नहीं जा सकता ।
इसके साथ ही अब इस मसले पर सोमवार को फिर से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी. दरअसल, सुप्रीम कोर्ट में विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने याचिक दायर की थी और कहा था कि हाईकोर्ट का निर्देश विधानसभा की कार्यवाही में हस्तक्षेप है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

झारखंड के सियासत की हांडी में फिर पक रही खिचड़ी, खेला होबे

रांची/ हज़ारीबागझारखंड की हेमंत सोरेन सरकार पर खतरा मंडरा रहा है। क्योंकि झारखंड के सियासत की हांडी में एकबार फिर पक रही खिचड़ी। खेला...

पतरातु डैम से जिस युवती की मिली लाश, वह निकली हजारीबाग मेडिकल काॅलेज की छात्रा

आवाज डेलीहजारीबाग । पतरातू डैम में 26 वर्षीया जिस युवती का हांथ- पैर बांधकर उसकी लाश डैम में फेंक दिया गया था,...

हज़ारीबाग नगर निगम के प्रधान लिपिक का निधन

आवाज डेलीहज़ारीबाग। नगर निगम के प्रधान लिपिक संजय कुमार का शुक्रवार को निधन हो गया। 45 वर्षीय संजय हनुमान मंदिर के पास...

एक सेवानिवृत पुलिस अधिकारी के प्रति विभाग बना अंजान

आवाज संवाददाता हजारीबाग। नौकरी में रहते हुए जिस पुलिस अधिकारी ने विभाग को अहमियत दी उन्हीं के लिये विभाग...

Recent Comments

error: Content is protected !!