Wednesday, September 22, 2021
Home राज्य झारखण्ड कोरोना के खतरे से करमा अपने पुराने स्वरूप में लौटा

कोरोना के खतरे से करमा अपने पुराने स्वरूप में लौटा

डीजे की जगह मांदर, ढोल और झाल के साथ महुआ और माड़ी का लगा तड़का

हर साल अखाड़े में करम की डाल के साथ हर गांव में डीजे की शोर में स्त्री- पुरुष थिरकते थे, पर रविवार को कहीं किसी अखाड़े में डीजे नहीं मंगायी गयी ।

आवाज टीम
हज़ारीबाग । कोरोना के खतरे से करमा के अपने पुराने स्वरूप में लौटने में मदद की है । हर साल अखाड़े में करम की डाल के साथ हर गांव में डीजे की शोर में स्त्री- पुरुष थिरकते थे, पर रविवार को कहीं किसी अखाड़े में डीजे नहीं मंगायी गयी ।

बल्कि गांव में परंपरागत रूप से इस्तेमाल होनेवाली मांदर, ढोल और झाल के साथ सरहुल पर लोग थिरके और ठंडा पेय या देशी- विदेशी शराब की जगह बीच- बीच में महुआ और माड़ी का तड़का लगाया । यह कार्यक्रम करम डाल के रविवार शाम विसर्जन तक चलता रहेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

निवर्तमान एसपी कार्तिक एस को दी गई भावभीनी विदाई, समारोह

हज़ारीबाग(आवाज़ डेली)। रविवार की देर शाम शुरू हुआ पूर्व एसपी कार्तिक एस का विदाई समारोह रात्रि पौने 11 बजे तक चला। जिसमें...

बड़कागांव के पूर्व विधायक के चालक की जमीन विवाद में गोली मारकर हत्या

हज़ारीबाग (आवाज़ डेली)। बड़कागांव के पूर्व विधायक लोकनाथ महतो के चालक राहुल साव की जमीन विवाद में गोली मारकर रविवार की देर शाम...

झारखंड के सियासत की हांडी में फिर पक रही खिचड़ी, खेला होबे

रांची/ हज़ारीबागझारखंड की हेमंत सोरेन सरकार पर खतरा मंडरा रहा है। क्योंकि झारखंड के सियासत की हांडी में एकबार फिर पक रही खिचड़ी। खेला...

पतरातु डैम से जिस युवती की मिली लाश, वह निकली हजारीबाग मेडिकल काॅलेज की छात्रा

आवाज डेलीहजारीबाग । पतरातू डैम में 26 वर्षीया जिस युवती का हांथ- पैर बांधकर उसकी लाश डैम में फेंक दिया गया था,...

Recent Comments

error: Content is protected !!