Thursday, July 29, 2021
Home झारखण्ड चतरा कैदी को सता रहा है भय, जमादार उससे ले सकता है बदला

कैदी को सता रहा है भय, जमादार उससे ले सकता है बदला

जेपी कारा में की थी मारपीट, निलंबन के साथ हुआ था उसका स्थानांतरण

ढाई साल बाद फिर कारा में लौटा जमादार, पिता ने सीएम से लगायी गुहार

आवाज डेली टीम

चतरा। जेपी केन्द्रीय कारा में बंद, ग्राम सलगी सिमरिया, चतरा के एक कैदी को अब सता रहा है भय कि दुबारा से अपनी पोस्टिंग कराकर पहुंचा जमादार उसका कारा में सोना, उठना- बैठना मुश्किल कर देगा। इसे लेकर वह पिछले कुछ दिनों से अवसाद में है। उसकी मानसिक स्थिति देखते हुए पिता ने मुख्यमंत्री से फरियाद कर कारा में दहशत में आये अपने बेटे के लिये न्याय की गुहार लगायी है।

पिता भी सशंकित हैं कि जमादार द्वारा उसके बेटे से बदला लिया जा सकता है, जो हजारीबाग स्थित जेपी केन्द्रीय कारा में सालों से बंद है। सीएम को लिखे पत्र में कैदी के पिता राधिका रमन सिंह ने बताया है कि उसका बेटा प्रभात कुमार कारा में सजायाफ्ता कैदी है। 2016 में कारा में पदास्थापित जमादार अवधेश सिंह ने उसकी बेरहमी से पिटायी कर दी थी।

अफसरों से शिकायत के बाद हंगामा होने पर उक्त जमादार को निलंबित कर उनका यहां से स्थानांतण कर दिया गया था। बताया कि ढाई साल बाद दुबारा से जमादार अवधेश सिंह जेपी केन्द्रीय कारा में अपना तबादला कराकर पहुंच गया है।

अब उसके बेटे पर खतरा मंडरा रहा है। शिकायत कर कार्रवाई कराने के कारण जमादार कारा के लठैतों (रायटर) की मदद से अपना बदला उससे साध सकता है और इसी को लेकर उनका पुत्र दहशत में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

झारखंड के सियासत की हांडी में फिर पक रही खिचड़ी, खेला होबे

रांची/ हज़ारीबागझारखंड की हेमंत सोरेन सरकार पर खतरा मंडरा रहा है। क्योंकि झारखंड के सियासत की हांडी में एकबार फिर पक रही खिचड़ी। खेला...

पतरातु डैम से जिस युवती की मिली लाश, वह निकली हजारीबाग मेडिकल काॅलेज की छात्रा

आवाज डेलीहजारीबाग । पतरातू डैम में 26 वर्षीया जिस युवती का हांथ- पैर बांधकर उसकी लाश डैम में फेंक दिया गया था,...

हज़ारीबाग नगर निगम के प्रधान लिपिक का निधन

आवाज डेलीहज़ारीबाग। नगर निगम के प्रधान लिपिक संजय कुमार का शुक्रवार को निधन हो गया। 45 वर्षीय संजय हनुमान मंदिर के पास...

एक सेवानिवृत पुलिस अधिकारी के प्रति विभाग बना अंजान

आवाज संवाददाता हजारीबाग। नौकरी में रहते हुए जिस पुलिस अधिकारी ने विभाग को अहमियत दी उन्हीं के लिये विभाग...

Recent Comments

error: Content is protected !!